Download Our App

Follow us

Home » राजनीति » चुनाव की संभावना को देखते हुए सपा नेताओं ने शुरू की टिकट मांगने की तैयारी

चुनाव की संभावना को देखते हुए सपा नेताओं ने शुरू की टिकट मांगने की तैयारी

भाजपा के टिकट पर उन्नाव सीट से लोकसभा का चुनाव लड़ सकती हैं पूजा पाल विधायक चायल सूत्र

रिपोर्टर अमित कुमार

कौशाम्बी: राज्य सभा चुनाव में क्रास वोटिंग करके चायल की सपा विधायक पूजा पाल ने सपाइयों को नई उर्जा दे दी है। खासकर चायल के समाजवादियों का तो चेहरा दमक उठा है। उप चुनाव की संभावना को देखते हुए वह अभी से ही टिकट मांगने की तैयारी करने लगे हैं। उप चुनाव इसलिए क्योंकि, पूजा पाल विधायकी से इस्तीफा देकर उन्नाव से भाजपा के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ सकती हैं। राजनीति के गलियारे में इस बात की चर्चा काफी जोरों पर है सूत्र।

वर्ष 2022 में हुए विधानसभा चुनाव की बात करें तो सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने पूजा पाल के लिए कई वरिष्ठ पार्टी नेताओं को किनारे कर दिया था। शहर पश्चिमी (प्रयागराज) से लाकर उन्हें कौशांबी की चायल विधानसभा सीट से टिकट दिया था। इससे टिकट मांगने वाले यहां के स्थानीय नेता काफी मायूस हुए थे। इनमें कुछ दिग्गज नेता भी शामिल थे। सपा के टिकट पर पूजा चुनाव जीत गईं तो टिकट की लाइन में लगे तमाम स्थानीय नेताओं को सियासी भविष्य खतरे में नजर आने लगा। उन्हें लग रहा था कि वर्ष 2027 के चुनाव में अब सीटिंग विधायक पूजा का टिकट कटवा पाना संभव नहीं हो सकेगा। शायद यही वजह रही कि कई नेताओं ने दूसरे दलों से समन्वय स्थापित करना भी शुरू कर दिया था। इसी बीच राज्य सभा चुनाव में अखिलेश से की गई पूजा की दगा ने चायल के सपा नेताओं का चेहरा खिला दिया है। नेताओं को पूरा भरोसा है कि उनके मुखिया अखिलेश अब पूजा पाल पर विश्वास नहीं करेंगे। इससे पहले जो चौंका देने वाली चर्चा है वह यह है कि पूजा पाल ने संभवत: इसी शर्त पर क्रॉस वोटिंग की है कि भाजपा उन्हें उन्नाट से लोकसभा का चुनाव लड़ाएगी। यदि पूजा उन्नाव का रुख करती हैं तो फिर कौशांबी के चायल सीट पर विधानसभा का उपचुनाव होना तय है।

इसे भी पढ़ें राष्ट्रीय धनगर महासभा इकाई की तत्कालीन बैठक

7k Network

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Latest News