Download Our App

Follow us

Home » सूचना » 30 जून तक सभी पशुपालक अपने पशुओं को अवश्य कराएं इयर टैग

30 जून तक सभी पशुपालक अपने पशुओं को अवश्य कराएं इयर टैग

इयर टैग अनिवार्य है मालिक का पता लगाने में सहायता मिलती है।

उत्तर प्रदेश कौशाम्बी जिले में पशुपालन विभाग द्वारा पशुपालकों को उनके पशुओं की चिकित्सा सेवा निशुल्क बधिया करण ,टीकाकरण व कृत्रिम गर्भाधान अत्यंत कम कीमत पर वर्गीकृत वीर्य से कृत्रिम गर्भाधान अत्यंत कम प्रीमियम पर पशुधन बीमा आदि सुविधाओं को निरंतर प्राप्त करने के लिए पशुओं के कान पर ईयर टैग लगाना और विभाग में पंजीकरण कराना अनिवार्य कर दिया गया है यह जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी अधिकारी डॉक्टर एके सागर ने देते हुए बताया कि पशुपालकों द्वारा ईयर टैग के माध्यम से प्रत्येक पशु की पहचान की जा सकती है चोरी और खो जाने की स्थिति में इयर टैग से पशु स्वामी की पहचान की जा सकती है पशुधन बीमा अत्यंत कम प्रीमियम पर पशु बीमा का लाभ प्राप्त करने के लिए इयर टैग अनिवार्य है भूमिहीन पशुपालकों एवं अन्य पशुपालकों के लिए किसान क्रेडिट कार्ड पशुपालन घटक की सुविधा प्राप्त करने के लिए इयर टैग अनिवार्य है।

सरकारी सुविधा पर चिकित्सा निशुल्क कृत्रिम गर्भाधान निशुल्क बधिया करण निशुल्क टीका करण आदि सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए इयर टैग अनिवार्य किया गया है। भारत पशुधन ऐप पर सुरक्षित रखने के लिए भी इयर टैग आवश्यक है भारत सरकार द्वारा उपलब्ध कराई गई सुविधाओं का सत्यापन करने के लिए पंजीकरण और इयर टैग अनिवार्य है। और मालिक का पता लगाने में सहायता मिलती है भारत पशुधन ऐप पर पंजीकरण से मालिकाना हक का प्रमाण पर मिलता है। सेवाओं का लाभ एवं दैवी आपदा में पशु हानि होने पर लाभ के लिए भी ईयर टैग आवश्यक है मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी ने सभी पशुपालकों से अपील की है कि वह अपने नजदीकी चिकित्सालय, सेवा केंद्र कृत्रिम गर्भाधान कार्यकर्ता वैक्सीनेटर से संपर्क कर 30 जून 2024 से पूर्व अपने पशुओं के कान में इयर टैग अवश्य लगवा ले।

इसे भी पढ़ें दूधमुहा बच्चा नहीं डूबा तालाब में बल्कि मारा गया

7k Network

Leave a Comment

RELATED LATEST NEWS

Latest News